यदि मुझे भगवान मिल जाएँ

यदि मुझे भगवान मिल जाए, यह कल्पना सुनने में ही कितनी अच्छी लगती है | यदि यह सच हो जाए तो कितना आनंद आएगा | बचपन से किताबों में जिस भगवान के बारे में पढ़ा, दादा – दादी से जिनके बारे में सुना, मंदिरों में जाकर जिनसे प्रार्थना की वो भगवान यदि मुझे मिल जाए तो मेरी ख़ुशी का तो ठिकाना ही नहीं रहेगा |

सबसे पहले तो मैं भगवान से ढेर सारी बातें पूछूँगा जैसे कि वो हमेशा छुपे क्यों रहते हैं ? जिस तरह हम दूसरों को देख सकते हैं उसी तरह उन्हें क्यों नहीं देख सकते | मैं उन्हें बताऊँगा कि यदि हर कोई उन्हें मेरी तरह देख पाए तो दुनिया का कितना भला हो जाएगा | आज दुनिया में हर जगह भगवान के नाम पर लड़ाई हो रही है | यदि भगवान ही सबको दिखाई देने लगे और वो सबकी बातों का जवाब दे दे तो लडाईयों का ये झंझट ख़त्म | दुनिया में कितनी शांति हो जायेगी | इसके बाद मैं उनसे इस दुनिया के बारे में पूछूँगा | इतनी बड़ी दुनिया उन्होंने क्यों और कैसे बनाई और हम लोगों को इतना छोटा क्यों बनाया | हमारे अलावा उन्होंने कोई और दुनिया बनाई है क्या यह जानना भी जरुरी है | यदि बनाई हो तो मैं उनसे प्रार्थना करूँगा कि मुझे एक बार उन दुनिया के सैर जरुर कराएँ |

इसके बाद मैं भगवान को अपने माँ और पिताजी से मिलाऊँगा | वैसे तो भगवान सबको जानते हैं | उन्हें किसी से मिलने की जरुरत नहीं पर मेरे माँ और पिताजी को उनसे मिलकर बहुत ख़ुशी मिलेगी | इसके बाद मैं भगवान से अपने फायदे की ढेर सारी चीजें माँग लूँगा | मैं भगवान को बोलूँगा कि मुझे दुनिया का सबसे समझदार आदमी बना दो | मेरा कक्षा में हमेशा प्रथम क्रमांक आए | कक्षा में प्रथम क्रमांक लाने पर मेरे शिक्षक मुझसे बहुत प्रसन्न रहेंगे | यह सोचकर ही मैं बहुत खुश हो रहा हूँ | इसके बाद मैं भगवान से अपने और अपने परिवार के लिए अच्छी सेहत अवश्य माँगूंगा | अच्छी सेहत के बिना मनुष्य खुश नहीं रह सकता |

इन सबके बाद मैं भगवान से ऐसी चीज माँगूंगा जो बाकी सब चीजों से जरुरी है | मैं उनसे प्रार्थना करूँगा कि संसार से गरीबी हटा दे | गरीबी के कारण लोगों को कितना कष्ट उठाना पड़ता है | कई लोगों को भूखे मरना पड़ता है | लोग बिमारी के समय अपां इलाज नहीं करा पाते | इसलिए मैं उनसे जोर देकर कहूँगा कि भगवान आप मेरी बाकी कोई बात मानो या न मानो, यह बात जरूर मान लो कि संसार में कोई गरीब न रहे |

अब मैंने भगवान का इतना समय ले लिया है तो उन्हें भी जाना होगा | मैं उनसे प्रार्थना करूँगा कि वो मेरी इच्छाओं को पूरी करें और बार-बार मुझसे मिलने आते रहें |

(यह निबंध कक्षा सातवी के विद्यार्थियों के लिए है | This Essay is for class 7 students. If you want complete list of Essays, click on Essay in Hindi .)

6 Comments

  1. unknown March 14, 2018
  2. Shivchandra kumar August 19, 2019
  3. Shabnam Pathan January 4, 2020
  4. Girish February 4, 2020
  5. Akhil February 4, 2020
  6. ANAND AGARWAL (Advocate) February 23, 2020

Leave a Reply