भूमंडलीय ऊष्मीकरण ( Global Warming in Hindi )

Global Warming

पिछले कुछ वर्षों में हम सब ने यह महसूस किया है कि मौसम का मिजाज काफी बदल गया है | जिन स्थानों पर पहले बहुत अधिक वर्षा होती थी, वहाँ अब पहले जैसी वर्षा नहीं हो रही है | जिन स्थानों पर कभी वर्षा नहीं होती थी वहाँ इतनी बारिश हो रही है कि बाढ़ आ जाती है | गर्मी के मौसम में बहुत ज्यादा गर्मी पड़ने लगी है, तो ठंड के मौसम में बहुत ज्यादा ठंड | वर्षा ऋतु में ठीक से वर्षा नहीं होती, तो कभी बेमौसम खूब पानी बरसता है | कई सदियों का जो मनुष्य जाति का अनुभव रहा है कि एक विशेष स्थान का मौसम विशेष तरह का होगा, वो अनुभव अब गलत साबित होने लगा है | वैज्ञानिकों ने लंबे परिक्षण के बाद यह निष्कर्ष निकाला है कि जलवायु में आई हुई इस अनिश्चितता का कारण भूमंडलीय ऊष्मीकरण है |

Hello Students I would like to recommend you that if you want to score 15 out off 15 marks in Section A Question No 1 which is Essay Writing (निबंध लेखन) , I’m sharing you the required link on how Essay should be written as far as Boards are concerned , Also In the course I have shared what is expected in the Essay Writing (निबंध लेखन) to score full marks , So Kindly go and join the course on Rough Book using below link
http://on-app.in/app/oc/80578/oinio

3 Comments

  1. Parnika gupta February 6, 2018
  2. Mohammed June 26, 2018
  3. Pankaj Prajapati December 21, 2018

Leave a Reply