Sudhir Singh Archive

गरीबी और अशिक्षा भारत के सभी अनर्थों की जड़ है (Poverty and illiteracy in India)

पिछले लगभग दो सौ वर्षों से गरीबी तथा अशिक्षा भारत की प्रमुख समस्या रही है | यह दोनों मात्र समस्या ही नहीं बल्कि एक अभिशाप है | भारत की 70 फीसदी आबादी अभी भी भरपेट खाना नहीं खा पाती | …

आप के जीवन का उद्देश्य क्या है ? आज से पंद्रह वर्ष बाद की कल्पना करते हुए बताइए कि आप स्वयं को कहाँ और किस रूप में देखना चाहते हैं | ( What is your goal in life )

मुझे बचपन से कंप्यूटरों से बहुत लगाव रहा है | शुरुआत में मैं कंप्यूटर का उपयोग सिर्फ खेलने के लिए करता था लेकिन धीरे-धीरे मेरी जिज्ञासा जागृत हुई | कंप्यूटर कैसे काम करता है, उसमें इतने सारे प्रोग्राम कैसे चलते …

सीवेज प्रणाली ठप्प होने की शिकायत

आपके मोहल्ले की सीवेज प्रणाली ठप्प हो गयी है | चारों तरफ गन्दगी फैल रही है और बीमारियाँ फैलने की आशंका है | सम्बंधित अधिकारी को पत्र लिखकर वहाँ के निवासियों की परेशानी से अवगत कराइए और समस्या को हल …

राष्ट्र के प्रति विद्यार्थियों के कर्तव्य

विद्यार्थी जीवन मनुष्य के जीवन का सबसे महत्वपूर्ण समय होता है | इस समय में बने संस्कार, सीखी हुई कलाएँ हमारा भविष्य निर्धारित करती हैं | इसलिए यह बहुत जरूरी हो जाता है कि मनुष्य अपने विद्यार्थी जीवन से ही …

आधुनिक शिक्षा प्रणाली में परीक्षाएँ अनिवार्य हैं | इसके पक्ष या विपक्ष में अपने विचार लिखिए |

परीक्षाएँ वर्त्तमान शिक्षा पद्धति का आवश्यक अंग है | विद्यार्थी की योग्यता को नापने के लिए यह एक महत्वपूर्ण साधन है | किसी छात्र की क्षमता जांचने के लिए परीक्षाएँ बहुत उपयोगी हैं। परीक्षा के द्वारा सम्बंधित विषय में विद्यार्थिओं …

प्रकृति मानव की चीर सहचरी रही है | ( Essay on environment in Hindi )

“प्रकृति मानव की चीर सहचरी रही है | मनुष्य आज स्वार्थ वश उसके संतुलन को बिगाड़ रहा है जो भावी पीढ़ी के लिए घातक है |” इस कथन के समर्थन में अपने विचार लिखिए | मनुष्य का जीवन पूरी तरह …

जीवन में सफलता और परिश्रम का महत्त्व

जीतने की इच्छा सभी में होती है पर जीतने के लिए तैयारी करने की इच्छा बहुत कम लोगों में होती है – इस कथन का आशय स्पष्ट करते हुए जीवन में परिश्रम का महत्त्व बताइए | जीवन में सफलता कौन …

अपने बड़े भाई को अपने नए मित्र के गुण बताते हुए पत्र लिखिए |

अशोक कुमार, कृष्ण कुंज, पवन विहार दादर, मुंबई दिनांक: 18/11/2014 प्रवीण कुमार, सेवा सदन, हिसार, हरियाणा आदरणीय भ्राताश्री, सप्रेम नमस्कार, मैं यहाँ कुशलतापूर्वक हूँ तथा आपके एवं माँ और पिताजी की कुशलता की कामना करता हूँ | जैसाकि आप जानते …

बदली हुई राजनैतिक परिस्थितियों के कारण भारत का सम्मान विश्वपटल पर बढ़ा है |

बदली हुई राजनैतिक परिस्थितियों के कारण भारत का सम्मान विश्वपटल पर बढ़ा है | इस कथन की समीक्षा करते हुए पिछले एक वर्ष के सरकार द्वारा किये गए कार्यों की समीक्षा करते हुए एक प्रस्ताव लिखिए | १६ मई २०१४ …

यदि मुझे भगवान मिल जाएँ

यदि मुझे भगवान मिल जाए, यह कल्पना सुनने में ही कितनी अच्छी लगती है | यदि यह सच हो जाए तो कितना आनंद आएगा | बचपन से किताबों में जिस भगवान के बारे में पढ़ा, दादा – दादी से जिनके …